International women’s day 2020: महिला दिवस पर जानियें इसके इतिहास के बारे में, कैसे एक महिला की हिम्मत ने सब महिलाओं को दिलाया उनका हक़

नमस्कार दोस्तों, हर साल 8 मार्च को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस (international women’s day) पूरी दुनिया में मनाया जाता है. इस दिन पुरी मानव जाती मिलकर अपने आसपास की महिलाओं जिनमें माँ,पत्नी,बेटी,आंटी मतलब तमाम महिलाओं का सम्मान करती है. उनके द्वारा कियें गए त्याग और बलिदान का इस दिन उन्हें धन्यवाद दिया जाता है. लेकिन हम 8 मार्च को महिला दिवस क्यों मनाते है क्या आप यह जानते है? अगर नहीं तो चलियें आपको आज हम  अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के इतिहास में बारे में बताते है!

women's day full history why celebrate international women's day on 8th march

100 सालों पहले महिला ने उठाई थी आवाज

अगर हम इतिहास के पन्नों को पलट कर देखें तो हमें पता चलता है की लगभग 100 सालों पहले कुछ महिलाओं ने समाज में अपने समानाधिकार की यह लड़ाई शुरू की थी. दरसल सालों पहले ग्रीस में लीसिसट्राटा (lysistrata) नाम की एक महिला ने फ्रेंच वॉर (French Revolution) के समय युद्ध ख़त्म करने की मांग की थी. इसके लियें फ़ारसी महिलाओं के एक समूह आंदोलन की शुरूआत की, और फिर इस समूह ने वरसेल्स (Versailles) में एक मोर्चा निकाला. इसमें महिलाओं ने युद्ध में उनके ऊपर हो रहे अत्याचार को रोकने की मांग की थी!

women's day full history why celebrate international women's day on 8th march

साल 1909 से हुई महिला दिवस की शुरुआत (Began Of celebrating International Women’s Day)

सोशलिस्ट पार्टी ऑफ अमेरिका (socialist party of america) द्वारा पहली बार पूरे अमेरिका में 28 फरवरी 1909 के दिन को महिला दिवस रूप में मनाया गया. इसके बाद अगले ही साल 1910 में सोशलिस्ट इंटरनेशनल द्वारा डेनमार्क की राजधानी कोपनहेगन (Copenhagen) में महिला दिवस की स्थापना हुई और 1911 में ऑस्ट्रि‍या, डेनमार्क, जर्मनी और स्विटजरलैंड में लाखों महिलाओं ने इकठ्ठा होकर रैली निकाली. इस रेली का उद्देश्य महिलाओं के मताधिकार, सरकारी कार्यों में नौकरी और अन्य भेदभाव को खत्म करना था!

women's day full history why celebrate international women's day on 8th march

रूसी महिलाओं ने शांति के लियें मनाया महिला दिवस (International women’s day history)

इसके बाद 1913-14 में प्रथम विश्व युद्ध (first world war) के दौरान, रूसी महिलाओं ने भी प्रेरित होकर पहली बार शांति की स्थापना के लिए फरवरी महीनें में महिला दिवस मनाया. युद्ध के दौरान पुरे यूरोप में महिलाओं ने प्रदर्शन कियें. इसके बाद रूसी महिलाओं ने रोटी और शांति के लिए भी मार्च निकाला. हालांकि यूरोप के कई राजनेता महिलाओं के इस आंदोलन से खुश नहीं थे. लेकिन फिर भी महिलाओं ने मुश्किलों का सामना करते हुए अपने आंदोलन जारी रखा. इसका असर यह हुआ की सरकार ने उसी साल महिलाओं के वोट देने के अधिकार की घोषणा की. साथ ही महिलाओं के समानाधिकर के कई फैसलें लियें गए!

women's day full history why celebrate international women's day on 8th march

अब पूरी दुनिया में मनाया जाता है महिला दिवस (international women day)

समय के साथ-साथ महिलाओं को अपने अधिकार मिलने लगे. आज महिला दिवस लगभग सभी विकसित और विकासशील देशों में 8 मार्च को मनाया जाता है. इस दिन महिलाओं को उनकी क्षमता, सामाजिक, राजनैतिक व आर्थिक तरक्की दिलाने व उन महिलाओं को याद करने का दिन है, जिन्होंने महिलाओं को उनके अधिकार दिलाने के लिए अथक प्रयास किए और उन्हें समाज में सम्मान दिलाया और उनके हक़ के लियें जान की बजी भी लगा दी!

women's day full history why celebrate international women's day on 8th march

यह ख़बर भी देखियें- Happy Women’s Day 2020: अपनी माँ,बहन और बेटी का महिला दिवस पर करें सम्मान, भेजे ये मैसेज, फ़ोटो और शायरी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here