दिल्ली की गलियों में हुई “इशारों इशारों” की शूटिंग, फिर हुआ ऐसा कि !

isharon isharon main

 नमस्कार दोस्तो, सोनी एंटरटेनमेंट टेलीविजन का आगामी शो “इशारों इशारों” में योगी नाम के लड़के की प्रेम कहानी दिखाई जाएगी जो मूक-बधिर है।

isharon isharon main

अपने पहले शूट के लिए, कलाकारों  ने दृश्यों को ज्यादा वास्तविक दिखाने के लिए पुरानी दिल्ली के इलाकों में शूट करना उचित समझा। शूटिंग का स्थान दिल्ली का सबसे व्यस्त क्षेत्र दिल्ली 06 था। पुरानी दिल्ली को छोटी और कॉम्पैक्ट गलियों के साथ सबसे व्यस्त स्थान माना जाता है।

लोगों ने नकली चोर को समझ लिया असली

 एक दृश्य में मुदित उर्फ योगी के पिता किरण कर्मकार उर्फ प्रकाश श्रीवास्तव पुरानी दिल्ली की सबसे व्यस्त गलियों में योगी का पीछा कर रहे हैं। जब योगी अपना किरदार में थे और अपनी गति से साइकिल चला रहे थे, उनके पिता पीछा कर रहे थे और उन्हें रुकने के लिए कह रहे थे। यह देखकर भीड़ को लगा कि किरण वास्तव में एक चोर का पीछा कर रहे हैं और उसे पकड़ने की कोशिश कर रहे हैं।

isharon isharon main

बॉलीवुड डेस्क: दंगल गर्ल जायरा वसीम का हैरान करने वाला फैसला, इस्लाम कि वजह से बॉलीवुड से लिया अलविदा

रोकनी पड़ी शूटिंग

प्रकाश की मदद करने के प्रयास में भीड़ में शामिल कुछ लोग चोर को पकड़ने में उनकी मदद करने के लिए उनके साथ भागने लगे। जब वे योगी को बुला रहे थे, योगी नही रुके और जब भीड़ उनके पास पहुंची और उन्हें रोकने की कोशिश की, तो उन्होंने आखिरकार शूटिंग बर्बाद कर दी। उन्होंने योगी पर हमला किया और शूटिंग में भी घुस गए। बाद में टीम ने उन्हें समझाया कि यह केवल एक दृश्य का हिस्सा था जिसमें योगी के पिता को उनका पीछा करना था और यह आगामी शो का एक हिस्सा है।

लीड एक्टर बोले-अलग अनुभव था

दिल्ली में अपने शूट के अनुभव को साझा करते हुए , योगी ने कहा, “मैंने दिल्ली में 16 साल बिताए हैं और इस शहर में मेरा दिल बसता है। दिल्ली में शूटिंग करना एक अदभुत अनुभव था। दिल्ली 06 दिल्ली का सबसे भीड़भाड़ वाला इलाका है और जब हम एक सीक्वेंस की शूटिंग कर रहे थे जहाँ किरण सर जो मेरे पिता की भूमिका निभा रहे थे, मेरा पीछा कर रहे है, भीड़ ने अनजाने में इसे गंभीरता से ले लिया और किरण सर की मदद करने की कोशिश की।

वहा के लोग शूटिंग में इतने मशगूल हो गए कि उन्हें लगा कि वह वास्तव में एक चोर का पीछा कर रहे हैं और मुझे पकड़ने में मदद करने के लिए मेरे पीछे दौड़ने लगे। जब उन्होंने मुझे  पकड़ लिया, तो मैंने महसूस किया कि वे गंभीर हो रहे थे और लगभग मुझे पीटने लगे थे। सौभाग्य से, प्रोडक्शन टीम बचाव के लिए समय पर आई और उन्हें समझाया कि हम शूटिंग कर रहे हैं। यह डरावना था  लेकिन एक सुपर मजेदार अनुभव था।

Worldcup2019- सेमीफाइनल से बाहर होने के बाद सरफ़राज़ पहुंचे पाकिस्तान, एयरपोर्ट पर अन्य खिलाड़ियों के साथ हुआ ऐसा बर्ताव जिसे जान कर आप को भी होगी हैरानी !

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here