Modi Cabinet 2019 : चाय वाले की सरकार में, बना साइकिल वाला मंत्री

0
281

नमस्कार दोस्तों,ओडिशा से सांसद चुने गये प्रतापचन्द्र सारंगी जिन्हे ओडिशा का मोदी नाम से जाना जाता है! बतादे  प्रतापचन्द्र को मोदी कैबिनेट में राज्‍यमंत्री का पद मिला है। बतादे लोकसभा चुनाव 2019 में भाजपा और खासतौर पर नरेंद्र मोदी को पूरे देश में प्रचंड बहुमत मिला। ऐसे में कई ऐसे नेता सांसद चुनकर आए हैं जो वास्तव में जमीन से जुड़े हैं और बेहद सादगी और सरलता के साथ जनता की सेवा कर रहे हैं। और ऐसे ही एक सांसद जो ओडिशा की बालासोर सीट से जीते प्रतापचंद्र सारंगी। चलियें आपको बताते है इनके बारे में!

बतादे सारंगी को ओडिशा का मोदी कहा जाता है। इन्होंने बीजू जनता दल (BJD) के करोडपति नेता एवम्‌ पूर्व सांसद रहे ‘रविंद्र कुमार जैना’ को एक लाख से भी ज्यादा मतो से हराकर एतिहासिक जीत हासिल की। बतादे यह इतिहास का पहला ऐसा केस होगा जिसमें जमीन स्तर से जुडे आम व्यक्ति ने बड़े नेता को हराया हो। हालाँकि 2014 में जैना ने सारंगी को हराया था,लेकिन इस बार यह शख्स संसद पहुंचने में कायमाब रहा। बतादे सारंगी सांसद चुने जाने के बाद सोशल मीडिया पर सुर्खियो मे चल रहे है। खासतौर पर ट्विटर पर उनकी तस्वीरें वायरल हो रही हैं।

जानियें कौन है साइकिल वाला मंत्री ?

प्रतापचंद्र सारंगी का जन्म ओडिशा के एक बेहद गरीब परिवार में हुआ। वे शुरू से धार्मिक प्रवृत्ति के थे और साधु बनना चाहते थे। नीलगिरी के फकीर मोहन कॉलेज से ग्रेजुएशन करने के बाद वे साधु बनने के लिए रामकृष्ण मठ चले गए। वहां लोगों को पता चला कि उनकी मां विधवा हैं और परिवार में कोई नहीं है तो सलाह दी कि वे घर जाएं और अपनी मां की सेवा करें। जिस कारण सारंगी साधु नहीं बन पाये! बतादे सारंगी ने शादी नहीं की और अपना संपूर्ण जीवन जनसेवा में लगा दिया है। सांरगी एक छोटे से घर में रहते हैं और साइकिल पर चलते हैं।।

सारंगी का घर भी कच्चा है और उनकी सादगी हर किसी को अपना कायल बना लेती है,वे अपनी जीत का श्रेय भी प्रधानमंत्री मोदी को ही देते हैं। वह कहते हैं ‘यहां के लोग नरेंद्र मोदी को देश के प्रधानमंत्री के तौर पर देखना चाहते थे’. लोगों ने उनके नेतृत्व और बीजेपी की विकास की कोशिशों पर विश्वास किया है! बालासोर में उनके आने से मेरे जीतने की संभावनाए काफी हद तक बढ़ गईं! साथ ही लोगों ने सांसद के तौर पर सेवा करने की क्षमता में भी मुझ पर भरोसा जताया!

बतादे मोदी के राजनीति मे आने के बाद ही सारंगी ने राजनीति में कदम रखा। इससे पहले वे 2004 और 2009 में नीलगिरी विधानसभा से विधायक रह चुके हैं। 2014 के लोकसभा चुनाव में उन्हें हार जरुर मिली थी,लेकिन इस बार इन्होने राज्यमंत्री की कुर्सी आपने नाम कर ली! हालाँकि अभी तक यह स्पष्ट नहीं हुआ है की सारंगी को कौन सा प्रभार मिलेगा।

यदि नहीं टोकते पिता सलीम खान, तो मन्नत के मालिक शाहरुख नहीं सलमान होते, जानियें बॉलीवुड का ये रोचक किस्सा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here