ये है भारत का जेम्स बांड, जिसने भारत के लिए पकिस्तान में भिखारी बनकर गुज़ारे थे 7 साल

0
77

नमस्कार, पुलवामा में भारतीय सेना पर हुए हमले के बाद भारत की तरफ से पकिस्तान को करारा जवाब दिया गया. भारत के फाइटर विमान मिराज 2000 से पाकिस्तान के ऊपर सेना ने एयर स्ट्राइक की. जिसने पुरे पाकिस्तान को हिला कर रख दिया! लेकिन क्या आप जानते हैं कि भारत की तरफ वो ऐसा कौन सा शख्स है जो पाकिस्तान को मुह तोड़ जवाब देता है। शायद आप नहीं जानते होंगे. तो चलियें आज हम आपको उसी शख्स के बारे में बताते है जो पर्दे के पीछे रहकर पाकिस्तान को धुल चटाने में अहम् भूमिका निभाते है!हम यहाँ बात कर हैं NSA (राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार) अजीत डोभाल की जिन्हें कीर्ति चक्र से सम्मानित किया जा चुका है। बतादे की अजीत को भारत का जेम्स बांड भी कहाँ जाता है क्योकि इनके कारनामे सुनकर हर कोई हैरान रह जाता है! बतादे अजीत केरल कैडर के वर्ष 1968 बैच के आईपीएस रह चुके है! इन्होने अजमेर मिलिट्री स्कूोल से पढ़ाई की है और आगरा यूनिवर्सिटी से अर्थशास्त्रय में एमएम किया है।

जानकारी देदे की आज भारत की सुरक्षा से जुड़े जितने भी जरुरी फैसले लिए जाते हैं तो उसमें अजीत डोवाल की आहम भूमिका होती है। बतादे भारतीय सेना द्वारा म्यनमार में सीमापार जो सर्जिकल स्ट्राइक की थी उसमे अजीत डोभाल की मुख्य भूमिका थी। इसके साथ ही उरी हमले के जवाब में पाकिस्तान पर हुई सर्जिकल स्ट्राइक में भी इनकी अहम भूमिका थी। याद दिला दे की बॉलीवुड फिल्म उरी में परेश रावल का जो किरदार है वो अजीत डोभाल का ही है!

यही नहीं ऑपरेशन ब्लू स्टार के दौरान अजीत डोभाल ने एक जासूस की भूमिका निभाई और भारतीय सुरक्षा बलों के लिए खुफिया जानकारी उपलब्ध कराई थी। आपको जानकर हैरानी होगी कि अजीत डोभाल ने पाकिस्तान में 7 साल भिखारी बनकर गुज़ारे हैं और इस दौरान कोई उन्हें पकड़ नहीं पाया। दरसल एक मिशन के दौरान वो पाकिस्तान में भिखारी बनकर जासूसी करते थे और वहां की अहम जानकारियां भारत तक पहुचाते थे।

तो दोस्तों आर्टिकल पसंद आया तो इसे लाईक और शेयर जरुर करें ताकि इस जाबाज़ हिदुस्तानी की कहानी हर हिन्दुस्तानी तक पहुचें!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here